देखते देखते सांस अटक जाए, चलते चलते कदम संभल न पाए
अंग अंग उसके शबाब टपक जाए, मिठे मिठे उसके बोल लिपट जाए
गर, दिल उसे कोई उधार दे जाए, कोई अफसाना हमें भी छूकर जाए